Think and Grow Rich सोचो और अमीर बनो 

THINK AND GROW RICH IN HINDI

ABOUT BOOK

BOOK के AUTHOR नेपोलियन हिल एक पत्रकार थे | उन्हें उस समय अमेरिका के सबसे अमीर इंसान ANDREW CARNEGIE का INTERVIEW लेने का मौका मिल गया | जब वे उनका INTERVIEW ले रहे थे तो उनके एक सवाल पर CARNEGIE ने उन्हें रोकते हुए कहाँ नेपोलियन सफलता का नियम यूनिवर्सल हैं | साधारण लोग इस नियम को नहीं जानते , वे लोग खुद अनुभव करके और अपना 70% जीवन व्यर्थ करके इस नियम को जाने इस से बेहतर होगा की वो इस नियम को दुनिया के उन लोगों से सीखें जिन्होंने इसका अनुसण किया है और सफल हुए है | उन्होंने NEPOLEAN को एक काम OFFER किया और कहाँ मै तुम्हे दुनिया के सबसे अमीर लोगों से मिलने का मौका दूँगा | जिनसे तुम्हें उन नियमों को सीख कर सफलता की PHILOSOPHY तैयार करनी होगी , लेकिन मै तुम्हें केवल सफर के पैसे ही दूँगा | NEPOLEAN ने कुछ समय सोचने के बाद OFFER स्वीकार कर लिया और दुनिया 300 से भी जयादा अमीर और समझदार लोगों से मिले और उनका INTERVIEWS लिए इस काम में उन्हें 20 साल लग गए और इस तरह दुनिया की पहली सफलता की PHILOSOPHY तैयार हुई THINK AND GROW RICH (सोचिये और अमीर बनिए) इसके बाद उन्होंने कई किताबें लिखी | मै यहाँ THINK AND GROW RICH के 4 PRINCIPLE आपके साथ SHARE कर रहा हूँ |

  • DESIRE (ईच्छा)

इच्छा ही सफल होने का प्राथमिक बिंदु है |सफल होने का सिर्फ एक ही तरीका है सफल होने की प्रबल इच्छा होना | कुछ समय पहले एक योद्धा के सामने एक ऐसी स्तिथि आयी की उसे युद्ध में अपनी सफलता
निशचित करनी पड़ी , वो अपने सेना को शक्तिशाली सेना के खिलाफ भेजने वाला था | उसकी स्तिथि करो या मारो वाली थी | उसने अपने जहाजों में सैनिको और गोला-बारूद को भरा और समुंद्री मार्ग से दुश्मन देश पहुंच गया | सैनिको और गोला-बारूद को जहाजों से उतारा और जहाजों को जलाने का आदेश दिया जो उन्हें वहां लाये थे | युद्ध से पहले अपने सैनिको को उत्साह भरा भाषण देते हुए कहा 'आप देख रहे है की जहाज जला दिए गए है इसका मतलब हम तब-तक यहाँ से जिन्दा नहीं लौट सकते जब-तक ये युद्ध जीत न जाये' और वे जीत गये | 
आपको भी चाहिए की आप अपना लक्ष्य निर्धारित कर ले और फिर चाहे आप तैयार हो या न हो काम में जुट जाये | बिना किसी लक्ष्य का जीवन एक ऐसी नाव की तरह है जो समुन्द्र में तो निकल पड़ी है लेकिन उसे पता ही नहीं जाना कहाँ है | 

NEPOLEAN-HILL-QUOTES

कुछ साल पहले मेरा एक मित्र बिमार हो गया | उसकी हालत दिन पर दिन बिगङती गयी और आखिर काल OPERATION के लिए ले जाना पड़ा | डॉक्टर ने हमें चेतावनी दी की उसके जिन्दा बचने के आसार बहुत कम है परन्तु ये डॉक्टरों का विचार था मरीज का नहीं, जब उसे OPERATION THEATRE में ले जाया जा रहा था तब उसने धीरे से मुझसे कहा चिंता न करो दोस्त मै कुछ दिनों में अस्पताल से बाहर आ जाऊंगा | नर्स ने मेरी तरफ दया भाव से देखा परन्तु मरीज सही सलामत वापस लौट आया | जब सबकुछ ठीक-ठाक हो गया तो उसके डॉक्टर ने कहा उसके जीवित बचने का एक ही कारण है जीवित रहने की उसकी प्रबल इच्छा अगर उसने मौत की सम्भावना की पूरी तरह अस्वीकार नहीं कर दिया होता तो आज वो जिन्दा ना होता | 
एक बार फिर से याद दिला रहा हुँ  'सफल होने का सिर्फ एक ही तरीका है सफल होने की प्रबल इच्छा का होना '

  • AFFIRMATION (प्रतिज्ञान)

अमीरी के प्रबल इच्छा को हकीकत में बदलने के 6 PRACTICAL तरीके ፦
  1. अपने दिमाग में पैसे की वह मात्रा सोच ले जिसे हासिल करने की आपकी प्रबल इच्छा है |
  2. ये तय कर की जिस पैसे की आप में प्रबल इच्छा है उसके बदले क्या देना चाहेंगे | 
  3. एक निश्च्चित तारीख तय कर ले जब-तक आप इस धन राशि को प्राप्त कर लेंगे | 
  4. एक निश्च्चित योजना बना ले की किस तरह आप अपनी प्रबल इच्छा को सच बनाएंगे और फिर चाहे आप तैयार हो या ना हो एकदम काम में जुट जाये |
  5. आप जितनी रकम हासिल करना चाहते है उसकी समय सीमा, आप उस धन राशि के बदले में क्या देना चाहते और वह योजना जिसके द्वारा आप इस धन राशि को हासिल करना चाहते है इन सब का स्पष्ट विवरण लिख लें | 
  6. अपनी लिखी हुई विवरण को जोर से दिन में दो बार पढ़े जब-तक आपको ये याद न हो जाये | जब आप इस विवरण को पढ़े तो ये अनुभव करे की आपने इसे हासिल कर लिया है | 
कुछ लोग इन 6 तरीकों की ताकत को नहीं पहचानते | उन्हें ये जानना चाहिए की ये जानकारी ANDREW CARNEGIE से ली गयी है जिन्होंने एक साधारण मजदुर के रूप में स्टील मील में काम शुरू किया था और आगे चलकर अमेरिका की सबसे बड़ी स्टील कम्पनी खोली | और अमेरिका के सबसे बड़ा बिजनस मैन और सबसे अमीर इंसान बने | 
ये नियम आपसे ये नहीं कहते की आप मुर्ख या अंधविश्वासी बन जाये | ये बस इतना कहना चाहते है की आप ढेर सारा धन कभी नहीं कमा सकते अगर आपमें धन पाने की प्रबल इच्छा न हों | 

  • AUTO SUGGESTION (आत्मसुझाव )
प्रकृति ने इंसान को इस तरह है की वह अपने अवचेतन मस्तिक तक पहुंच रहे विचारो पर पूरा नियंत्रण रख सके | हालाँकि जयादातर लोग इस नियंत्रण का प्रयोग नहीं करते इसलिए वो जीवन भर गरीब बने रहते है | अवचेतन मस्तिक एक बगीचे की तरह होता है जिसमे अगर बेहतर फसलों के बीज न बोया जाये तो अनुपयोगी पौधे उग आएंगे | आत्मसुझाव वो सिद्धांत है जिसके द्वारा बेहतर विचारो को अवचेतन मस्तिक तक पहुंचाया जा सकता है | जो हार जाते है और गरीबी, दुःख, और कष्ट में अपना जीवन बिताते है वो ऐसा इसलिए करते है क्योंकि उन्होंने आत्मसुझाव के नियम का नकारात्मक प्रयोग किया किया है | अवचेतन मस्तिक को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की विचार सकारात्मक है या नकारात्मक ये उन आदेशों को मानता है जो हम उसे देते है | आत्मसुझाव के नियम द्वारा कोई भी इंसान आत्मविश्वास की कमी, डर, लालच, क्रोध, ईर्ष्या, और आलस जैसे मानसिक भावनाओं से मुक्त हो सकता है | यह इस कविता में बहुत अच्छी तरह से अभिव्यक्त होता है | 

NEPOLEAN-HILL-QUOTES-HINDI

अगर आप सोचते है आप हार गए है 
तो आप हार गए है  
अगर आप सोचते है आप में  हिम्मत  
नहीं है तो नहीं है | 
अगर आप जितना चाहते है लेकिन 
सोचते है की नहीं जीत सकते तो 
लगभग तय है की आप नहीं जीत  पाएंगे | 
अगर आप सोचते है आप पिछड़ गए है 
तो सचमुच ऐसा है ,आप को ऊपर उठने 
के बारे में सोचना  होगा | आप को अपने आप 
पर यकीन करना होगा तभी आप जीत सकते है |
जीवन के युद्ध में वो नहीं जीतता जो ताकतवर या तेज होता है बल्कि जल्दी या देर से जीतता वही है | जो सोचता की वह जीत सकता है | 
  • SPECIALIZED KNOWLEDGE (विशेष ज्ञान
ज्ञान दो तरह का होता है एक है सामान्य ज्ञान दूसरा है विशिष्ट ज्ञान | सामान्य ज्ञान चाहे जितना भी हो धन के मामले में ये अधिक उपयोगी नहीं होता | ज्ञान से धन नहीं आता जबतक की धन के लिए लक्ष्य न बनाया जाए | ज्यादातर लोग इस गलत धारणा में विश्वास रखते है की ज्ञान ही शक्ति है ऐसी कोई बात नहीं है ये केवल संभावित शक्ति है | ये शक्ति तभी बनती है जब इसे कार्य की निश्चित योजनाओं में एकत्र किया जाये और किसी निश्चित लक्ष्य के प्राप्ति के लिए इसका उपयोग किया जाए |
यह जरुरी नहीं की वही आदमी शिक्षित हो जिसमें सामान्य या विशिष्ट ज्ञान की प्रचुरता हो शिक्षित आदमी वह होता है, जिसने अपने मस्तिक को इस तरह से विकसित कर लिया है कि वह जो चाहता है उसे हासिल कर सकता है | और इस प्रक्रिया में वह दुसरो को नुकसान नहीं पहुँचाता |

NEPOLEAN-HILL-QUOTES-IN-HINDI



प्रथम विश्व युध्य के दौरान शिकांगो के अखबार में छापा गया की HENRY FORD एक अज्ञानी इंसान है | FORD ने इसका विरोध किया और अखबार के खिलाफ एक मुकदमा दायर कर दिया | जब मुकदमा कोट में चल रहा था तो अखबार के वकीलों ने अपनी बात सही साबित करने के लिए FORD को ग्वाही के लिए बुलाया ताकि जज  ये साबित कर सके की FORD अज्ञानी है | वकीलों ने फोर्ड से बहुत से सवाल किये ताकि ये साबित हो सके हालाँकि उनके पास कार बनाने का विशिष्ट ज्ञान है परन्तु बाकि सभी मामलो में वो अज्ञानी है | FORD से इस तरह के सवाल पूछे गये  ፦  

  1. बेनेडाईट अर्नोल्ड कौन थे ?
  2. 1706 के विद्रोह से निपटने के लिए ब्रिटेन ने कितने सैनिको को अमेरिका भेजा | इस सवाल का फोर्ड ने यह जवाब दिया मुझे ब्रिटेन द्वारा भेजे गए सैनिको की संख्या तो नहीं पता परन्तु मैंने सुना है जितने सैनिक गए थे उनमे से बहुत कम वापस लौटे | 
आखिर काल फोर्ड इस तरह के सवालों के जवाब देते-देते थक गए | और उन्होंने ने एक अजीब से सवाल के जवाब में कटघड़े में आगे की तरफ झुकते हुए विरोधी वकील की तरफ उँगली दिखाते हुए कहा “आप के द्वारा पूछे गये इस मूर्खता पूर्वक सवाल का या आपने अबतक मुझसे जितने भी सवाल पूछे है | अगर मै उन सवालों के जवाब सचमुच चाहुँ तो मेरे टेबल पर कई बटन लगे हुए है और मै जब चाहुँ सही बटन दबाकर अपनी सहायता के लिए ऐसे आदमीयो को बुला सकता हुँ | जो सही जवाब दे सकते है मेरे पास ऐसे विशेषज्ञ मौजूद है जिनसे मै जितने भी सवाल पूछूँगा उन्हें उन सब के जवाब मालुम है | जब मेरे पास ऐसे लोग मौजूद है जो मेरे हर सवाल का जवाब दे सकते है तो आप कृपया करके बताएँगे की मै सिर्फ इन सवालों के जवाब मालूम करने के लिए अपने मस्तिक में सारे सामान्य ज्ञान का ढेर क्यों इक्कठा करूँ" | फोर्ड के इस जवाब को सुनकर अदालत में बैठे हर आदमी को यह अहसास हुआ की यह जवाब किसी अज्ञानी आदमी का जवाब नहीं हो सकता बल्कि शिक्षित आदमी का जवाब है | Ford के पास वह सारा विशिष्ट ज्ञान था जिनकी उन्हें अमेरिका के सबसे अमीर आदमियों में से एक बनने की आवश्यकता थी |

सफल होने के लिए आप ये निश्चित कर ले की आपको कौन से विशिष्ट ज्ञान की आवश्यकता है, और आप इससे कौन सा लक्ष्य हासिल करना चाहते है और फिर चाहे आप तैयार हो या न हो एकदम से काम में जुट जाये |  


निवेदन : इस लेख के बारे में आपके क्या विचार हमे जरूर बतायें। शेयर करें अपने दोस्तों और परिवार के साथ, आपने इस लेख पर अपना कीमती समय दिया इसके लिए आपको धन्यवाद।


👉 अगर आप इस पोस्ट में लगे इमेज में लिखे arifabid.com के बारे में सोच रहे है तो मैं आपको बता दु वो मेरा old blog था।
Previous Post Next Post